एसबीआई लाइफ की 'थैंक्स ए डॉट' पहल ने कैंसर का शीघ्र पता लगाने के लिए लॉन्च किया एक और नवोन्मेषी जीवनरक्षक उपकरण

एसबीआई लाइफ की 'थैंक्स ए डॉट' पहल ने कैंसर का शीघ्र पता लगाने के लिए लॉन्च किया एक और नवोन्मेषी जीवनरक्षक उपकरण
एसबीआई लाइफ की 'थैंक्स ए डॉट' पहल ने कैंसर का शीघ्र पता लगाने के लिए लॉन्च किया एक और नवोन्मेषी जीवनरक्षक उपकरण
मुंबई : अक्टूबर स्तन-कैंसर जागरूकता माह के रूप में मनाया जाता है, यह हर महिला के लिए अपने स्वास्थ्य को प्राथमिकता देने और नियमित रूप से स्तन के स्व-परीक्षण की आदत डालने के लिए रिमाइंडर की तरह है। इस महत्वपूर्ण महीने में, एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस अपनी 'थैंक्स ए डॉट' पहल के माध्यम से महिलाओं को स्व-स्तन परीक्षण सीखने और इसकी आदत बनाने में मदद करने के लिए एक और साल भर लम्बा सफ़र शुरू कर रही है।
     इस पहल के एक अंग के रूप में, एसबीआई लाइफ ने 'हॉट वॉटर बैग' का उपयोग कर स्तन के स्व-परीक्षण को बढ़ावा देने के लिए एक नया नवोन्मेषी उपकरण विकसित किया है, जिसका उपयोग देश भर में महिलाओं द्वारा मासिक धर्म के दर्द से निपटने के लिए सबसे अधिक किया जाता है। गर्म पानी की थैली के डिज़ाइन में एक साधारण बदलाव यानि बैग के सामने की तरफ विशेष गांठों को उकेर देने से महिलाओं को यह अनुभव करने में मदद मिलती है कि स्व-परीक्षण के दौरान स्तन कैंसर की वास्तविक गांठ कैसी महसूस होगी। यह उपकरण भारतीय महिलाओं को स्तन स्व-परीक्षण को एक नियमित आदत बनाने और शीघ्र पता लगाने के महत्व के बारे में प्रशिक्षित करने, शिक्षित करने और याद दिलाने में मदद करता है।
     स्तन के स्व-परीक्षण की आवश्यकता पर ज़ोर देते हुए, एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस के ब्रांड, कॉर्पोरेट संचार और सीएसआर के प्रमुख, श्री रवींद्र शर्मा ने कहा, “धीरे-धीरे महिलाएं विभिन्न किस्म के कर्तव्यों और ज़िम्मेदारियों से अधिक अपने स्वास्थ्य को प्राथमिकता देने के महत्व को समझना शुरू कर दिया है, लेकिन हमने महसूस किया कि व्यावहारिक रूप से उनमें से कई अभी भी, अपने स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए कदम उठाने के लिए संघर्ष कर रही हैं। स्तन कैंसर आज महिलाओं में सबसे आम बीमारियों में से एक है, इसलिए हर महिला के लिए यह महत्वपूर्ण हो जाता है कि वह सबसे पहले अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दे और स्तन की जांच खुद करने के लिए सरल कदम उठाएं। स्तन के स्व-परीक्षण की आवश्यकता के बारे में जागरूकता पैदा करने की तत्काल आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए, एसबीआई लाइफ के 'थैंक्स ए डॉट' ने अपने पांचवें वर्ष में मौजूदा आदत का लाभ उठाकर, देश के हर घर में प्रवेश करने का एक अनूठा तरीका खोजा है।